👉 5+ Best चुड़ैल की कहानी > Chudail Story in Hindi

दोस्तों इस पोस्ट में हम हमारी वेबसाइट की कुछ Best ” चुड़ैल की कहानी ” बतायेंगे जिन्हें आप पढ़ सकते है | चलिए तो शुरू करते है हमारी चुड़ैल की कहानी ” पढना |

चुड़ैल की कहानी
चुड़ैल की कहानी

1 . चुड़ैल की कहानी >> 1 चुड़ैल का बदला : –

बहुत समय की बात है। एक कल्यानपुर नाम एक गाँव था। उस गाँव मे सुरेश नाम का आदमी रहता था। सुरेश की शादी उस गाँव की गीता नाम की लड़की से शादी हुई थी। लेकिन सुरेश को वो लड़की बिल्कुल भी पसंद नही थी। ऐसे मे कुछ साल गुजर जाते थे। इन्हीं सालों में गीता एक बच्चे को जन्म देती है। गीता को लगता था कि अब बच्चा होने के बाद शायद सुरेश उससे पसंद करने लगेगे वो एकदम बदल जाएगें। लेकिन ऐसा कुछ नही होता सुरेश तब भी गीता को खूब मारता था। साथ ही वो अपने बच्चे को भी बिल्कुल प्यार भी नही करता था।

एक दिन सुरेश गीता को ऊँचे स्वर से आवाज लगाता है – गीता आय गीता कहा मर गई बाहर निकल।

गीता जवाब देते हुए- जी क्या हुआ जी? मैं चिंटू को सुला रही हु। उसकी आज बहुत तबीयत है।

सुरेश – तुझे बस चिंटू के तबियत के बहाने आराम करना है। चल मुझे जल्दी से अलमारी से पैसे निकालकर दे।

गीता – जी वो पैसे तो चिंटू के दवाईखाने के पैसे हैं। घर में वही बस पैसे बचे हैं। मै आपको वो पैसे नही दे सकती।

सुरेश – तेरी इतनी हिम्मत मेरे से जुबान लड़ाएगी। चुपचाप वो पैसे मुझे लाकर दें।

गीता – मैं आपको वो पैसे नहीं दूंगी चाहे कुछ भी हो जाए।

सुरेश – तेरी इतनी हिम्मत, रुक तुझे तो मैं अभी बताता हूं। देखता हूं वो पैसे कैसे नही देती है मुझे।

रमेश गुस्से मे आकर अंदर जाता है और अलमारी खोलता है। उस अलमारी से पैसे निकालने लगता है। गीता घबराए हुए सुरेश को रोकती है। इससे सुरेश को गुस्सा आ जाता था। गुस्से मे आकर कोने मे पड़ा एक डंडा उठाता है गीता को बुरी तरीके से पीटने लगता है।

दोस्तों आगे की कहानी आप यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते है : – चुड़ैल की कहानी >> 1 चुड़ैल का बदला : –

2 . चुड़ैल की कहानी >>1 खुनी चुड़ैल  : –

चुड़ैल की कहानी
चुड़ैल की कहानी

मेरा नाम अमित है मै आप सब को एक आँखों देखा किस्सा सुनाने जा रहा हूँ। बात 5-6 साल पुरानी है उस समय में दिल्ली में रहता था कुछ दिनों से हमारे मुहल्ले में एक चुड़ैल के घूमने की अफवाह फैली हुई थी कुछ लोगों का कहना था की उन्होंने एक डरावनी औरत को रात के समय यहां घूमते हुए देखा है। वह कभी घरों की छत पर तो कभी गलियों में घूमती हुई दिखाई देती थी।

इस वज़ह से लोगों ने छत पर सोना बंद कर दिया था अँधेरा होते ही गलियाँ सुनसान हो जाती थी डर का माहौल ऐसा था की एक दिन मुहल्ले के लोगों ने मिलकर रात भर पहरा भी दिया लेकिन उस दिन उन्होंने ना कुछ देखा ना ही कुछ उनके हाथ आया।

मुझे इस बात पर बिलकुल विशवास नहीं था जो भी चुड़ैल की बातें करता था, मै उसका मज़ाक उड़ाता था मेरा मानना था कि यह लोगों का वहम है या फिर कोई इन्सान है जो लोगों को डरा रहा है।

दोस्तों आगे की कहानी आप यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते है : – चुड़ैल की कहानी >>1 खुनी चुड़ैल : –

3. चुड़ैल की कहानी >>1 खतरनाक चुड़ैल की कहानी : –

चुड़ैल की कहानी
चुड़ैल की कहानी

रमेसर बाबू अपने कार्यालय में अपनी सीट पर बैठकर फाइलों को उलट-पलट रहे थे। उनका कार्यालय ग्रामीण क्षेत्र में था जहाँ जाने के लिए कच्ची सड़कों से होकर जाना पड़ता था। अरे इतना ही नहीं, कार्यालय के आस-पास में जंगली पौधों की अधिकता थी, कहीं कहीं तो ये जंगली पौधे इतने सघन थे कि एक घने जंगल के रूप में दिखते थे।

कार्यालय के मुख्य दरवाजे को छोड़ दें तो बाकी हिस्से पूरी तरह से घाँस-फूँस आदि से ढंके लगते थे।

कार्यालय के कमरों की खिड़कियों आदि पर लंबे-लंबे घास-फूँसों का साम्राज्य था। दिन में भी कार्यालय में एक हल्का अंधकार पसरा रहता था, जिससे ऐसा लगता था कि यह कार्यालय हरी-भरी वादियों में शांत मन से बैठा हुआ किसी गहरे चिंतन में डूबा हुआ हो। क्योंकि इस कार्यालय में कुल कर्मचारियों की संख्या मात्र 5 ही थी जिसमें से एक रामखेलावन थे|

जो चपरासी के रूप में यहाँ अपनी सेवा दे रहे थे। रामखेलावन ही वह व्यक्ति थे जिनके कार्य-व्यवहार से यह शांत कार्यालय कभी-कभी मुखर हो उठता था और कर्मचारियों की हँसी-ठिठोली से जाग उठता था।

दोस्तों आगे की कहानी आप यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते है : – चुड़ैल की कहानी >> 1 खतरनाक चुड़ैल की कहानी

4. चुड़ैल की कहानी >> La Llorona , चुड़ैल की कहानी : –

चुड़ैल की कहानी
चुड़ैल की कहानी

मरिया बहुत ज्यादा खुबसुरती थी इसलिए उसका सपना था कि वह एक अमीर और खूबसूरत इंसान लडके से ही शादी करे। एक दिन उसके जीवन मे उसके सपने जैसा ही आदमी आया । जो कि बहुत ज्यादा अमीर और खूबसूरत था। वो मरिया को देखते ही उसके प्यार मे पड़ जाता है। वह आदमी मरिया को इतना पसंद करता है

की वह मरिया के साथ जल्द से जल्द शादी का मन बना लेता है मरिया को भी वो आदमी बहुत पसंद आता है धीरे धीरे दोनो को एक दुसरे से प्यार हो जाता है। उसके बाद दोनो शादी कर लेते है बाद में मरिया के दो जुड़वा बच्चे होते है। एक लड़का होता है और एक लड़की। उसका पति सभी को बहुत खुश रखता है धीरे धीरे समय गुजरता है |

वक्त के साथ मरिया बूढी होने लगती है ढलती उम्र के साथ वो पहले की तरह खुबसुरती भी नही रही जिससे मरिया का पति उसे पहले की तरह प्यार भी नही करता था। और यह बात मरिया को बहुत बुरी लगती थी। उसका पति सिर्फ अपने बच्चे से प्यार करता था। उनकी ही देखभाल करता था। मरिया का पति अब मरिया पर बिलकुल भी ध्यान नही देता जैसे की अब मरिया हो ही ना|

दोस्तों आगे की कहानी आप यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते है : – चुड़ैल की कहानी >> La Llorona , चुड़ैल की कहानी

ऐसे ही मजेदार कहानियां अगर आप instagram पर पढना चाहते है

तो आप हमारे instagram पेज @Sirf_Horror को Follow कर सकते है |

5. चुड़ैल की कहानी >> Bloody Mary Real Story in Hindi : –

चुड़ैल की कहानी
चुड़ैल की कहानी

Bloody mary का असली नाम मैरी ट्युडोर था। Bloody mary हेनरी येल की बेटी थी। जो इंग्लैंड के राजा थे। उनका शासन सन् 1509 से लेकर 1577 लेकर चला जाता था।

हेनरी येल की दो बेटियां थी एक का नाम एलिज़ाबेथ और दूसरी का नाम मैरी लेकिन हेनरी को कोई लड़का नही हो रहा था, इस बात को लेकर हेनरी को बहुत ज्यादा चिंता हो रही थी, उनका राज पाठ कौन संभालेगा। मैरी एक लड़की थी।

इसलिए हेनरी मेरी को बिल्कुल भी पसंद नही करते थे। न ही उसके साथ अच्छा व्यवहार कर रहे थे। महल में बहुत सारे नौकर होने के बाबजूद भी मैरी को सारा काम करना पड़ता था। लेकिन मैरी ने कभी भी अपने पिता को उल्टा जबाब नहीं दिया उससे यह सारे काम क्यूँ कराते है। कई न कई मैरी यह बात जानती थी उसके पिता इंग्लैंड के सबसे शक्तिशाली आदमी है।

मैरी (18 फरवरी 1516 – 17 नवंबर 1558) जुलाई 1553 अपनी मृत्यु तक इंग्लैंड और आयरलैंड की रानी थीं। इन्होने अपने शासन काल के हजारों लोगो को ऐसी ऐसी सजाये दी की आदमी की रूह कांप जाये |

दोस्तों आगे की कहानी आप यहाँ क्लिक करके पढ़ सकते है :- चुड़ैल की कहानी >> Bloody Mary Real Story in Hindi : –

दोस्तों उम्मीद करता हूँ की हमारी चुड़ैल की कहानी की यह सारी कहानियां आपको पसंद आई होंगी , आप चाहे तो हमारी अन्य कहानियां भी पढ़ सकता है |

👉 आप चाहे तो हमारी यह कहानियां भी पढ़ सकते हैं  :-

Leave a Comment