Horror Story in Hindi | भुतिया लिफ्ट | Hindi Story

Horror Story in Hindi की इस कहानी में आप सभी का स्वागत है यह कहानी एक सत्य घटना पर आधारित है लेकिन वो कहानी भारत देश की नहीं है इस कहानी को मैने सालों पहले अख़बार में पढ़ा था जितना मुझे याद है मैने इस कहानी में लिख दिया आप यह bhutiya story पढ़े और प्लीज एक कमेंट जरुर करें की आपको यह कहानी कैसी लगी | 

कहानी विशाखापटनम की है, वहां जिस बिल्डिंग में हम रहते थे उस बिल्डिंग का नाम कावेरी था। वहां एक अफवाह थी कि लिफ्ट में भूत है। दरअसल एक औरत ने 14वी मंजिल से कूदकर जान दे दी थी। तब से लोगों का कहना था कि उस औरत का भूत लिफ्ट में दिखता है, हमारा घर तीसरी मंजिल पर था। वैसे मुझे भूत वाली बात पर ज्यादा विश्वास नहीं था पर फिर भी मुझे रात को लिफ्ट में जाने से डर लगता था, वैसे मुझे लिफ्ट की जरुरत भी नहीं थी। 

Horror Story in Hindi  Bhutiya Lift भुतिया लिफ्ट  Hindi Story


एक दिन मैं अपने एक दोस्त के साथ घर वापस आ रहा था। वह भी उसी बिल्डिंग में ही रहता था। उस समय रात के करीब नौ बजे रहे थे। हमे लिफ्ट से जाने में डर लग रहा था। मगर हम एक दूसरे को दिखाना नहीं चाहते थे कि हमे डर लग रहा है, इसलिए हम लिफ्ट में घुस गए। लिफ्ट तीसरी मंजिल पर पहुंची, दरवाज़ा आधा खुला और फिर खुद ही बंद हो गया। लिफ्ट ऊपर जाने लगी। हमने लिफ्ट रोकने की कोशिश की मगर कोई बटन काम नहीं कर रहा था। लिफ्ट सबसे ऊपर की मंजिल पर गई और फिर सबसे नीचे की मंजिल पर आ गई। ऐसा कई बार हुआ और हम लिफ्ट में बहुत चिल्लाए पर कोई हमारी मदद के लिए नही आया फिर कुछ समय बाद लिफ्ट 14 वी मंजिल पर आ कर रुक गई। 

लिफ्ट का दरवाज़ा अपने आप ही खुल गया। हम बहुत डर गए थे। हम जल्दी से लिफ्ट से बाहर निकल कर नीचे कि ओर भागे, भागते भागते मैने और मेरे दोस्त ने नोटिस किया की हम 14वी मंजिल से 13वी मंजिल पर जा ही नही पा रहे बल्कि हमने कई बार सीढ़ियों पार की फिर भी। हम दोनो ने उस औरत का फ्लैट देखा जहा वो रहती थी। सच बोलूं तो मेरी सिट्टी पिट्टी गुल हो गए, कुछ समझ नही आ रहा था हम सीढ़ियों पर इतना भागे फिर भी हम नीचे नही जा पा रहे थे तभी लिफ्ट की घंटी बजी कोई नीचे से लिफ्ट को बुला रहा था मैने कुछ नही सोचा और हम लिफ्ट में चला गया, मुझे देख कर मेरा दोस्त भी लिफ्ट में आ गया तभी हमारे सामने उस औरत के घर का दरवाजा खुलने लगता है हमारी खतरनाक वाली फटी पड़ी थी लेकिन तब तक लिफ्ट का दरवाजा बंद होता है और हम नीचे जाने लगते है लिफ्ट में मैं अपनी दिल की धड़कन सुन पा रहा था फिर भी जैसे लिफ्ट नीचे जाने लगी मैंने चैन की सांस ली लेकिन फिर क्या हुआ मुझे नही पता। 

मेरी आंखें सीधे हॉस्पिटल में खुली, जैसे ही मेरी आंखे खुली मेरे माम्मी पापा मुझे गले लगा कर रोने लगे। मुझे कुछ भी समझ नही पा रहा था क्या हुआ। मैं तो अभी लिफ्ट में था यह कैसे आया, में अब भी अपनी दिल की धड़कन महसूस कर पा रहा था लेकिन में यहां कैसे आया तभी मेरे दिमाग में मेरे दोस्त का ख्याल आया। मैने मां से पूछा मेरा दोस्त कहा है और मै यहां कैसे आया। मां ने जवाब दिया तू गार्ड साहब को लिफ्ट में बेहोश मिला था पिछले 3 दिन से तू यहां हॉस्पिटल में बेहोश पड़ा है और 4 दिन पहले तू और तेरा दोस्त अचानक लापता हो गए थे।

Horror Story in Hindi  Bhutiya Lift भुतिया लिफ्ट  Hindi Story

पहले तू कुछ खाले फिर बताती हूं में तुझे, तब तक पापा डॉक्टर को लेकर आ गए। डॉक्टर ने मुझे चेक किया और पापा से बात की, तब तक मां मेरे लिए सेब काट रही थी ताकि मुझे खिला सके, फिर कुछ समय बाद कुछ पुलिसवाले अंकल मेरे पास आते हैं और मुझसे मेरे दोस्त के बारे में पूछते है कि वो तुम्हारे साथ ही था ना, कहां गया? 

आप चाहे तो हमारी यह कहानियां भी पढ़ सकते हैं  :-

जैसे ही उन्होंने मुझसे ये सवाल किया में स्तंभ रह गया। मैने मेरी आखें मां की तरफ की और पूछा "आपको मेरे साथ मेरा दोस्त नहीं मिला क्या? 

पुलिस वाले अंकल ने जवाब दिया "बेटा तुम दोनो पिछले 4 दिन से गायब हो तुम तो 3 दिन पहले गार्ड को लिफ्ट में मिले लेकिन तुम्हारा दोस्त अभी तक गायब है,आखरी बार गार्ड ने ही तुम दोनो को लिफ्ट में जाते देखा था उस दिन ना वो मिला ना ही तुम, फिर तुम मिल गए लेकिन तुम्हारा दोस्त अभी तक गायब है। 

ये सुनते ही में जोर जोर से रोने लगा मुझे रोता देख मम्मी ने मुझे गले से लगाया और चुप कराया। मैं रोते रोते सब कुछ बड़ बड़ करने लगा। मम्मी ने मुझे शांत कराया और पानी पिलाया फिर पापा आ गए तो उन्होंने पुलिस अंकल को बाद में आने के लिए कहा , पुलिस अंकल के जाने के बाद मैने धीरे धीरे रोते रोते हमारे साथ को उस दिन जो हुआ उसके बारे में मम्मी–पापा को बताने लगा। मम्मी पापा समझ नही पा रहे थे वो इस पर कैसे रिएक्ट करे और यह सब कैसे पुलिस को बताए।

पापा ने कहा तुम सच तो बोल रहे होना क्योंकि यह सब अगर तुम बोल रहे हो तो हमे सब को यहीं बताना होंगा की तुम दोनों के साथ उस दिन क्या हुआ था। पापा में सच बोल रहा हूं मेरी एक एक बात सच है। पापा मम्मी सोच नही पा रहे थे अब उन्हें क्या करना चाहिए।

पापा ने पुलिस अंकल को बुलाया और मुझे वापस सब कुछ बताने के लिए कहा। मैने वैसा ही किया एक एक बात मेने बता दी लेकिन इस बात पर उन्हें यकीन नही हो रहा था तभी पुलिस अंकल को कॉल आया कि हमारी उसी बिल्डिंग से सुबह से 3 बच्चें गायब हैं।

जैसे ही ये बात मैने सुनी में तो डर से रोने लगा , पापा ने कहा एक बार 14वी मंजिल देखनी चाहिए आपको।

Horror Story in Hindi  Bhutiya Lift भुतिया लिफ्ट  Hindi Story


पुलिस अंकल तो कुछ नही बोल रहे थे उन्हें ऐसी बातों पर यकीन नही हो रहा था लेकिन फिर भी वो और पापा बिल्डिंग की तरफ रवाना हो गए।

एक महीने बाद..... 

मैं नही जानता वहा ऐसा क्या हुआ कि पुलिस ने पूरी बिल्डिंग से लोगों को निकाल दिया, मेरा दोस्त और बाकी 3 बच्चें सही सलामत मिल गए और जो मैने पुलिस अंकल को कहा था वही सब उन्होंने भी कहा।


जो भी हो उस बिल्डिंग में अब कोई भी रहता, मेरे साथ जो हुआ उनके बाद तो हम एक बार भी अपने घर भी गए , हमारे घर का आधा समान भी वही पड़ा है।

तो दोस्तों कैसी लगी आपको Real घटना पर आधारित यह भूतिया कहानी |

आप चाहे तो हमारी यह कहानियां भी पढ़ सकते हैं  :- 






एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ