1 Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi

दोस्तों इस Bhutiya Story in Hindi की कहानी में आप एक Bhutiya Ldki के बारे में पढ़ेंगे यह कहानी आपका दिमाग हिला देंगी और यह कहानी ( Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi ) आपको जरुर पसंद आएँगी | चलिए शुरू करते है आज की हमारी यह Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi |

Bhutiya Story in Hindi
Bhutiya Story in Hindi

Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi का आरम्भ :

नोरा नाम की लड़की अपने पति जोनोल्ड के साथ अमेरिका मे वैलेंटाइन मनाने लिए आई थी। नोरा ने वहाँ सब बुक करा रखा था। दिन मे पिकनिक मनाने पास के जंगल मे जाएगे। शाम को फिर वहाँ की प्रसिद्ध झील के पास डिनर नाइट करने के लिए जाएगे। नोरा की खुशी कुछ देर के लिए थी। क्युकी जैसे ही वो दोनों होटल पर पहुँचे। जोनोल्ड को एकदम से ऑफिस की एमरजेंसी बिजनेस मीटिंग का काल आ गया। वो बिजनेस मीटिंग का काल अवोइड नही कर सकता था|

सलिए वो होटल रूम मे जाते ही अपना काम करने मे लग गया। इस बात से नोरा और जोनोल्ड के बीच लड़ाई हो गई। क्योंकि जोनोल्ड पिछले बहुत समय से नोरा के साथ टाइम स्पेंड नही करता था। वो बस 24 घंटे बस अपने काम पर ही ध्यान देता था। उस दिन उन दोनों की बहुत ही तेज लड़ाई हो गई। नोरा गुस्से मे आकर रूम से बाहर चली जाती है। जोनोल्ड भी अपने काम मे लग जाता है,उसका काम पूरा होने के बाद उसका गुस्सा कम हो जाता है। फिर उसको नोरा की फिक्र होने लगी।

रात के 10 बज रहे थे। जोनोल्ड ने नोरा को मेसेज किया। कोई जवाब न आने के कारण उसने काल लगाने का सोचा। बहुत सारे काल करने के बाद उसने एक भी काल नही उठाया। ऐसे मे जोनोल्ड नोरा को ढूँढने के लिए चला जाता है। हर जगह ढूंढा पर नोरा कही पर नही मिली। जोनोल्ड ने सोचा शायद नोरा झील के पास गई होगी। क्युकी नोरा का जब भी मूड खराब खराब होता है, तो वो पानी के पास जाकर बैठ जाती है। उसे वही पर ही सुकून मिलता है। ऐसे मे जोनोल्ड झील के पास चला जाता है।

यह भी जरुर पढ़े :-

उसे वहाँ एक लड़की दिखाई देती है। जोनोल्ड उस लड़की को बोलता है, आपने यहाँ किसी लड़की को देखा क्या? कोई जवाब न आने के कारण जोनोल्ड और करीब चला जाता है। जैसे ही वो करीब जाता है उस लड़की की रोने की आवाज आती है। रात के 12 बजने मे कुछ ही समय बचा था। वो लड़की लगभग 19 साल की दिख रही थी। वो रोते हुए बस झील के सामने ही देख रही थी।

जोनोल्ड ने उसे इस तरीके से रात के 12 बजे झील के पास रोता देखा,उससे कारण पूछा। उसका कोई जवाब आया। फिर वो लड़की अचानक से हवा मे गायब हो जाती है। यह देखकर जोनोल्ड डर जाता है। वो वहाँ से भागने लगता है, तभी अचानक उसे नोरा दिखाई दी। वो दौड़कर नोरा के पास गया, उसे गला लगाया। अपने साथ चलने को कहा,लेकिन नोरा अपनी जगह से हिले भी नही। वो बस झील की ओर देख रही थी। यह देखकर जोनोल्ड भी झील की ओर देखा, तो उसे वही लड़की दिखी जो कुछ समय पहले उससे मिली थी।

Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi का मध्य :

ऐसे ही मजेदार कहानियां अगर आप instagram पर पढना चाहते है

तो आप हमारे instagram पेज @Sirf_Horror को Follow कर सकते है |

पर आश्चर्यचकित बात यह थी उस लड़की का मुह एकदम नीला पड़ा हुआ था और उसका पूरा शरीर पानी से भीगा हुआ था। नोरा उसी लड़की की ओर देख रही थी, धीरे धीरे करके नोरा उस लड़की के पास जा रही थी। जोनोल्ड यह देखकर उसे रोकने की कोशिश करता है, पर उसे रोक नही पाया। धीरे धीरे वो झील के पानी की ओर बढ़ती ही जा रही थी। ऐसे मे जोनोल्ड ने अपना पूरा जोर लगाया पर उसे पानी मे जाने से रोक नही पाया। फिर अचानक से जोनोल्ड को जोर से धक्का लगता है।

वो बहुत दूर जाकर गिर जाता है। जोनोल्ड नोरा को उस लड़की के साथ झील के अंदर जाते देख रहा था। फिर नोरा झील के अंदर चली जाती है।

यह देखकर जोनोल्ड रोने लग जाता है। रोते रोते वो भी झील के अंदर जाकर नोरा को ढूढ़ने लगता है। तभी वहाँ एक आदमी आता है, वो जोनोल्ड को झील के अंदर जाते देख उसे बाहर खिचकर लाता है। बाहर आते ही जोनोल्ड बेहोश हो जाता है। कुछ देर बाद उसे होश आता है। जोनोल्ड अपने सामने खड़े आदमी को रोते हुए बोलता है, वो लड़की उसके पीछे नोरा उस पानी मे चली गई थी। जो उसके सामने गायब हो गई थी। आख़िर वो लड़की कौन थी?

यह भी जरुर पढ़े :-

उस आदमी ने जोनोल्ड की बात का जवाब देते हुए कहता है, कि जो लड़की आपको दिखाई दे थी, वो मैरी की आत्मा थी। बहुत पहले इसी एरिया मे मैरी अपने माता पिता के साथ रहती थी। उसकी उम्र 19 साल की थी। उस यहाँ के एक जहाजी कप्तान से प्यार हो जाता है। एक दिन वो जहाजी कप्तान लंबे समय के लिए जा रहा था। मैरी को उससे मिलना था। लेकिन मैरी के माता पिता को जहाजी कप्तान बिल्कुल भी पसंद नही था। इसलिए उसे जाना भी नही दिया। कुछ दिन बाद यह खबर आती है

जिस जहाज मे जहाजी कप्तान था। वो तूफान के कारण डूब गई। मैरी यह खबर सुनकर उससे मिलने के लिए झील के पास जाती है। वो इतने सदमे मे आ गई, झील के पास खड़े लोगो पर चीखने और चिल्लाने लग गई। झील की ओर भाग जाती है वहाँ जाकर जहाजी कप्तान को याद करती। और उसकी याद मे रोती भी रहती है। फिर मैरी उसी झील के अंदर कूदकर अपनी जान दे देती हैं। मैरी की आत्मा इसी झील मे अपने प्यार को याद करके रोती रहती है।

उस दिन से कोई भी रात को इस झील के पास अकेला नही आता है। जो भी अकेला होता है,तो मैरी उसे अपने साथ ले जाकर डूबा देती है। उसकी जान ले लेती है। इसलिए कोई भी रात को अकेला इस झील के पास नही आता। उस दिन से जोनोल्ड को हर रात को यही पछतावा होता है कि काश उस रात मे अपना काम छोड़कर अपनी पत्नी नोरा के साथ होता,तो आज उसका प्यार जिंदा होता।

Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi का समापन :

तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ की आपको हमारी यह कहानी ( Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi ) जरुर पसंद आई होंगी , आपको हमारी यह कहानी ( Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi ) कैसी लगी जरुर बताये | आपका एक एक कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है |

आप चाहे तो हमारी यह कहानियां भी पढ़ सकते हैं  :-

आवश्यक सुचना :- यह हमारी यह कहानी ( Bhutiya Ldki – Bhutiya Story in Hindi ) पूरी तरह काल्पनिक है यह कहानी किसी भी अन्धविश्वास को बड़ावा देने के लिए नही लिखी गयी है इन्हें सिर्फ मनोरंजन के उद्देश्य से लिखा गया है |

Leave a Comment