“वो 1 आखरी रात” | Rajasthan Horror Story in Hindi

कहानी की प्रष्टभूमि:-

यह कहानी राजस्थान के एक गाव की है जहाँ लोग भुत प्रेत जैसी बातो पर पूरा विश्वास करते है क्यूंकि इस पर विश्वास करने के इनके पास अपने कारण है आपने भी अपने बचपन में कई सारी भुतिया कहानीयां सुनी होंगी | आप सभी की तरह मैने भी कई सारी कहानियां सुनी है उन्ही में से एक कहानी में आज आपको सुनाऊंगा और यह Rajasthan Horror Story in Hindi की मेरी पहली कहानी है उम्मीद करता हूँ की यह कहानी आपके बचपन में सुनी कहानियों की यादों को ताज़ा कर देंगी |

दोस्तों अगर आपको Horrorचीजों में या फिर Horror जानकारी में इंटरेस्ट है तो आप एक बार हमारा Instagram Page Sirf Horror देख सकते है वहां हम रोजाना मजेदार और रहस्यमई जानकारियां देते है एक बार देखे जरुर अच्छा लगे तभी फॉलो किजियेंगा | धन्यवाद 

यह बात तब की है जब में 8 से 9 साल का था तब में अक्सर अपनी मम्मी के साथ ननिहाल जाया करता है वहा कोई ना कोई रोजाना हमे कहानियां सुनाया करता था उनमे से ज्यादातर कहानियां में भूल चूका हूँ लेकिन एक कहानी जो मुझे मेरी नानी ने सुनाई थी आज भी मुझे याद है नानी ने खाने के बाद हम सभी भाई बहनों को (Cousin) अपने पास बुलाया और कहा की आज वे हमे कहानी सुनाएंगी तो उन्होंने हमे जल्द से जल्द अपने अपने बिस्तर पर जाने के लिए कहा हम सभी नानी की भुतिया कहानी सुनने के लिए तैयार थे |

नानी ने कहानी शुरू की :-

सालों पहले की बात है 3 दोस्त रात को 12 बजे के बाद कही से पैदल आ रहे थे उस समय आज की तरह हर जगह बिजली या रोड लाइट नही हुआ करती थी उनके पास पर एक टोर्च थी जो 3 से 4 मीटर तक की रौशनी देती थी| इसी अँधेरे में वे तीनों टोर्च के सहारे अपने अपने घरों की तरफ जाने लगे जब वे सभी अपने अपने घर से 2-3 किलोमीटर की दुरी पर थे तब उन्हें किसी बच्चे की रोने की आवाज सुनाई दी सभी ने सोचा की इतनी रात को कोई बच्चा यहाँ कैसे हो सकता है और यह गाव तो पहले से ही अपनी कई सारी भुतिया कहानियां के लिए प्रसिद्ध था|

यह भी जरुर पढ़े => 5 भूतिया गेम जो डराके गांxड फाड़ दे | Horror Mobile Games in Hindi

तीनों दोस्तों ने उस आवाज को अनदेखा किया और आगे अपने घरों की तरफ चलने लगे जैसे जैसे वे आगे जा रहे थे वैसे वैसे बच्चे की आवाज तेज होती जा रही थी लेकिन उन्हें याद था की पहले बच्चें की आवाज उनके पीछे से आ रही थी और अब आवाज कभी तो सामने से आ रही है तो कभी दाएँ से तो कभी बाएं , जिसके हाथ में टोर्च थी वह तेजी से आवाज की तरफ टोर्च कर रहा था लेकिन किसी को कुछ भी दिखाई नही दे रहा था|

उन्होंने बस तेजी से अपने अपने घर की तरफ कदम उठाना शुरू किया लेकिन घर से 2-3 किलोमीटर की दुरी आज इस अँधेरी रात में 10 किलोमीटर से ज्यादा लग रही थी और ये डरावनी बच्चें की आवाज़ सभी को अंदर तक डरा रही थी तभी कुछ आगे चलने पर उन्होंने देखा की वे वापस उसी जगह आ गये है जहा से उन्होंने चलना शुरू किया था उन तीनों को यह समझ नही आ रहा था|

की उनके साथ यह सब क्या हो रहा है तभी बच्चें की रोने की आवाज़ आने लगी इस बार आवाज़ इतनी तेज थी की उन्हें लगा की एकदम उनके पीछे कोई उनके पेरों के पास बेठा रो रहा है उन तीनों की पीछे मुड़ कर देखने की हिम्मत भी नही हो रही थी फिर भी तीनों ने हिम्मत जुटा कर पीछे देखा तीनों पीछे मुड़े पर उन्हें पेरों के पास कोई दिखाई नही दिया |

वो 1 रात Rajasthan Horror Story in Hindi
वो 1 रात Rajasthan Horror Story in Hindi

 

तभी उनके पीछे एक बकरी का बच्चा आकर बैठ गया, जैसे ही उन तीनों ने वापस सामने की तरफ देखा अचानक बकरी के बच्चें (मेमना) को देख तीनों डर गये कुछ समय वही खड़े रहने के बाद तीनो ने वापस आगे चलने के बारे में सोचा तब तक उस बच्चे की आवाज भी आना बंद हो गयी थी तीनो फिर से अपने घरों की तरफ चलने लगे |

अब वो मेमना (बकरी का बच्चा) भी उनके पीछे पीछे चलने लगा तभी एक ने कहा की इतनी रात को यह मेमना यहाँ कैसे आया हमें इसे भी अपने घर लेके जाना पड़ेंगा वरना कोई जानवर इसे मार देंगा | तो उसने मेमने को अपने गोद में उठा लिया और आगे घर की तरफ चलने लगे , कुछ देर आगे जाने के बाद जिसके हाथ में मेमना था वो थक गया तो उसने मेमने को अपने दुसरे दोस्त के हाथों में दे दिया अब फिर से वे आगे चलने लगे|

लेकिन जिसके हाथ में मेमना था उसे ऐसा लग रहा था की धीरे धीरे मेमने का वजन बड़ रहा है इसका वजन साधारण से ज्यादा ही लग रहा था जैसे उन्होंने अपने गोद में किसी मेमने को बल्कि किसी भारी वस्तु को ले रखा हो घर अब बस कुछ ही दुरी पर था तभी जिसके हाथ में मेमना था उसने कहा मेमना इतना भारी है की अब मुझमे ताकत नही है की में इसे उठा सकू|

तो उसने अपने हाथ आगे कर तीसरे दोस्त को मेमना देना चाहा लेकिन मेमना बिच में ही हाथो से गिर गया | मेमना सिर के बल गिरा सभी को लगा की गिरने से मेमने को चोट आई होंगी , सिर्फ एक पल में मेमना खड़ा हुआ और जोर से इंसानी बच्चे की आवाज़ में रोने लगा यह सुनते ही तीनों के रोंगटे खड़े हो गये वह मेमना उन तीनों के सामने धीरे बड़ा होने लगा| 

उस समय तीनों को ऐसा लग रहा था की तीनो उसी जगह जम गए हो जिसके हाथ में टोर्च थी , उस टोर्च की रौशनी में वह मेमना किसी 4 पेरों वाले अजीब से डरावने जानवर में बदल गया जो की बच्चे की आवाज़ में रो रहा था अब वह मेमना किसी दूसरी दुनिया के भयानक जानवर की तरह दिखाई दे रहा था जिसकी टांगे इंसानों के बराबर दिखाई दे रही थी उसकी चमकदार लाल डरावनी आखे ऐसी थी के मानों नरक ही देख लिया हो तीनों जोर से चिलान्ना चाहते थे|

जिससे लोग आ सके और उनकी मदद कर सके , लेकिन उन सभी के मुहं से चु तक नहीं निकल रही थी उन्ही के सामने वह छोटा सा मेमना एक भयानक से लम्बे जानवर का आकर लेकर वही अँधेरे में भाग जाता है | वह जानवर जैसे की वहां से जाता है तीनों हिम्मत करके भागते है और जो भी पहला घर उनके सामने आया उसका दरवाजा खटखटाते है वे तीनों दरवाजा इतने जोर से खटखटा रहे थे की घर के अंदर वाले भी डर गये|

तभी घर के बड़े लड़के ने हिम्मत करके दरवाजा खोला और तीनों को घर के अंदर लिया | तीनों इतने डरे हुए थे की जैसे ही वे अंदर आये एक ने जल्दी से दरवाजा वापस बंद | घर का मालिक तीनो को जानता था तभी उसने सवाल किया ” तुम तीनों इतनी रात में यहाँ इस हालत में कैसे” |
=>आप चाहे तो यह भी पढ़ सकते है |

  1. Horror Story In Hindi | खोफ़ की किताब
  2. सो रही पत्नी को उठाकर चलती ट्रैन के सामने फेंका। Video Viral!!

तीनों में से कोई कुछ भी नही बोल पा रहा था तभी घर में मालिक ने अपने बड़े बेटे को तीनों के घर जाकर उनके परिवार वालों को बुलाने के लिए कहा |

लड़का भाग कर गया और सभी के घर वालों को अपने घर बुला लाया सभी के घर वाले कुछ देर में वहां आ गये तीनों की ऐसी हालत देख घरवालें परेशान हो गये और सवाल करने लगे क्या हुआ आप सभी को | सभी को आसपास देख एक ने हिम्मत करके जो भी उनके साथ हुआ बताना शुरू किया |

एकदम सन्नाटे के माहोल में वह सब कुछ बता रहा था की उनके साथ अभी क्या हुआ पूरी कहानी सुन कर वहां मोजूद हर कोई चकित रह गया तभी घर के बाहर से जोर जोर से कभी बच्चें की रोने की आवाज़ आने लगी सभी लोग वो आवाज़ सुन कर डर गये, घर के मालिक ने सभी को अंदर के रूम में चलने के लिए कहाँ | सभी लोग अंदर के रूम में आ गये और वह भयानक आवाज़ अब भी आ रही थी |

वो 1 रात Rajasthan Horror Story in Hindi
वो 1 रात Rajasthan Horror Story in Hindi

सुबह होने तक वह डरावनी आवाज़ आती रही लेकिन सूरज के आने के साथ आवाज़ भी आना बंद हो गयी फिर वह तीनों भी अपने अपने परिवार वालों के साथ अपने अपने घर चले गये |

” रात में जो कुछ उन तीनों के साथ हुआ और बाद में जो सभी परिवार वालों ने भयानक आवाज़ सुनी ” कुछ ही घंटों में यह बात पुरे गाव में आग की तरह फेल गये | पूरा गाव उन तीनों से मिलने आने लगे |

तीनों रात में जो उनके साथ हुआ उससे सदमे में थे तीनों को भयंकर बुखार आ गया |

यहाँ तक कहानी सुनकर हम सभी भाई बहन डर गये लेकिन हमे मजा भी आ रहा था की आगे क्या होंगा तभी नानी ने जो आगे कहा उस एक लाइन के कारण आज भी मुझे यह कहानी पूरी याद है |

नानी नें आगे कहा की तीनों को खतरनाक बुखार आ गया यह बुखार 2 लोगों को जान लेके की खत्म हुआ जिन दो लोगों की जान गयी यह वही थे जिन्होंने उस मेमने को अपनी गोदी में उठाया था | एक थे तुम्हारे नाना और दुसरें उनके दोस्त |

उस रात के बाद तुम्हारे नाना इतने बुरे बीमार हुए की कोई इलाज उन पर असर नही कर रहा था और यह बुखार उसकी मौत के साथ खत्म हुआ यह बोलते बोलते मेरी नानी की आँखों में आसू आने लगे और इसी कारण आजतक मुझे यह कहानी याद हैं |

“कहानी का अंत | Rajasthan Horror Story in Hindi :-

तो दोस्तों Rajasthan की यह Horror Story आपको कैसी लगी एक कमेंट करके जरुर बताये जल्द ही मिलते है हम अगली ऐसी ही Horror Story in Hindi की कहानी में |

Leave a Comment